वेरिफिकेशन के लिए अब पुलिस नहीं लेगी ओरिजनल डाक्यूमेंट, परिवहन मंत्रालय ने जारी की अडवाइजरी

New Delhi: इस बार 15 अगस्त में पहली बार देश की रक्षा में ‘पावर पफ विमन कमांडो’ को तैनात किया जाएगा। दिल्ली पुलिस का यह कमांडो दस्ता देश की किसी भी स्टेट पुलिस में पहला दस्ता है।

जब पूरा देश देशभक्ति में डूबा होगा, तो यह सब बख्तरबंद गाड़ियों में तैनात होंगी। इस गाड़ी को भी महिला कमांडो ही चलाएंगी। 15 अगस्त में ये नजारा बेहद ही दिलचस्प होगा। ये महिला कमांडो बम को भी चुटकियों में डिफ्यूज करने की ताकत रखती हैं। इन्हें दिल्ली पुलिस के पराक्रम बेड़े की ही कमांडो से कहीं अधिक ट्रेंड किया गया है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि वर्तमान में देश की किसी भी राज्य पुलिस की पास इस स्टैंडर्ड का विमन कमांडो दस्ता नहीं है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह इस स्पेशल विमन कमांडो को दिल्ली की जनता की सुरक्षा में तैनात करेंगे। इस दस्ते को पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक की देखरेख में तैयार किया गया है। इस विशेष दस्ते में 36 विमन कॉन्स्टेबल को 15 महीने की ट्रेनिंग दी गई है। आमतौर पर कमांडो ट्रेनिंग 12 महीने की होती है। यह दस्ता मेल कमांडो से भी अधिक ट्रेंड है। इन्हें एनएसजी की भी कमांडो ट्रेनिंग दिलाई गई है।

इनमें अभी दिल्ली पुलिस में भर्ती हुई देशभर से विमन कॉन्स्टेबल में से असम से 13, मणिपुर से 5, अरुणाचल प्रदेश से 5, सिक्किम से 5, मेघालय से 4, नगालैंड से 2 और मिजोरम व त्रिपुरा से 1-1 कॉन्स्टेबल ली गई हैं। फिलहाल इन्हें राजपथ और विजय चौक पर तैनात किया जाएगा। इनकी ट्रेनिंग पीटीसी झड़ौदा कलां और मानेसर में हुई है।

जी हां- 15 अगस्त के दिन जब लाल किला की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित कर रहे होंगे तब उनकी सुरक्षा में एसपीजी और लोकल पुलिस के अलावा दिल्ली पुलिस का विमिन स्वॉट कमांडो का दस्ता भी तैनात होगा। दिल्ली पुलिस का यह कमांडो दस्ता देश की किसी भी स्टेट पुलिस में पहला दस्ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *