करुणानिधि को आखिरी विदाई देने पहुंचा पूरा चेन्नई, रो-रोकर बोले लोग-बस एक झलक देखने दो

New Delhi: तमिलनाडु के पूर्व सीएम करुणानिधि का अंतिम संस्कार मरीना बीच पर ही होगा। उन्हें आखिरी बार देखने के लिए लाखों लोगों की भीड़ जमा हो गई है। लोग उनकी एक झलक पाने के लिए घंटों इंतजार किए। हर किसी की जुबान से एक ही बात सुनाई दे रहा है- बस एक झलक दिखा दो।

DMK प्रमुख एम. करुणानिधि ने 94 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। उन्होंने मंगलवार शाम 6:10 बजे चेन्नई के कावेरी अस्पताल में आखिरी सांस ली। इस खबर के आते ही तमिलनाडु समेत पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई। डीएमके समर्थकों में मातम पसर गया। डीएमके समर्थक सड़कों पर रोते और बिलखते नजर आए।

करुणानिधि की खबर सुनकर पूरा तमिलनाडु गम में डूब गया। इसके बाद करुणानिधि को मरीना बीच में दफनाने के लिए जगह देने की मांग की जाने लगी, लेकिन तमिलनाडु सरकार ने इससे इनकार कर दिया। इसके बाद डीएमके समर्थकों ने हंगामा शुरू कर दिया और मामला हाईकोर्ट तक पहुंच गया। हालांकि हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए मरीना बीच पर दफनाने की इजाजत दे दी।

गौरतलब है कि राज्य में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक की सुप्रीमो रहीं जे. जयललिता को मरीना बीच पर ही दफनाया गया था। द्रविड़ नेताओं को दाह संस्कार के बजाय दफनाने की लंबी परंपरा रही है। यहां तक कि अन्ना दुरई और एमजीआर सहित ज्यादातर द्रविड़ नेता दफनाए ही गए। करुणानिधि 94 साल के थे। वह अपने पीछे दो पत्नियां, छह पुत्र-पुत्रियां छोड़ गए हैं। द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन उनके बेटे हैं। उनकी बेटी कनीमोरी राज्यसभा की सदस्य हैं। द्रमुक प्रमुख करुणानिधि पांच बार मुख्यमंत्री रहे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक जताते हुए कहा, ‘कलैनार के नाम से लोकप्रिय नेता का जाना अपूरणीय क्षति है।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई नेताओं ने उनके निधन पर दुख जताया है। तमिलनाडु सरकार ने बुधवार को छुट्टी और राज्य में सात दिनों के शोक की घोषणा की है। दिल्ली और देश की राजधानियों में भी उनके सम्मान में बुधवार को राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा।

करुणानिधि के अंतिम दर्शन के लिए प्रधानमंत्री मोदी चेन्नई पहुंच चुके हैं। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण भी चेन्नई पहुंचेंगी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्य नेता भी बुधवार को ही पहुंचेंगे। पीएम मोदी ने कहा, हमेशा याद रखेगा देश प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘करुणानिधि के निधन से गहरा धक्का लगा। वह देश के वरिष्ठतम नेताओं में से एक थे। हमने जमीन से जुड़े एक नायक को खो दिया है। लोकतंत्रिक मूल्यों के लिए प्रतिबद्ध नेता को आपातकाल के खिलाफ कड़े विरोध के लिए याद किया जाएगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *