बेटे स्टालिन की मार्मिक चिट्ठी-मैं आपको थलाइवर कहता रहा,क्या आखिरी बार आपको अप्पा कह सकता हूं

New Delhi: तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके अध्यक्ष मुथुवेल करुणानिधि के लिए आज पूरा चेन्नई रो रहा है। राज्य शोक में है। प्रशंसक बेकाबू हो रहे हैं। इसी बीच पिता करुणानिधि के लिए बेटे स्टालिन का एक मार्मिक खत सामने आया है।

खत में स्टालिन ने पिता करुणानिधि को एक आखिरी बार ‘पिता’ कहने की इजाजत मांगी, तो जिसने भी इसे पढ़ा उसकी आंखें नम हो गईं।
उन्होंने लिखा- ‘करोड़ों उडनपिरपुक्कलों (डीएमके काडर) की ओर से मैं आपसे अपील करता हूं कि बस एक बार ‘उडनपिरप्पे’ बोल दीजिए और हम एक सदी तक काम करते रहेंगे। मैं आपको अप्पा कहने की जगह अपने जीवन में ज्यादातर समय ‘थलाइवर’ (नेता) कहता रहा। क्या कम से कम अब मैं आपको अप्पा कह सकता हूं।

स्टालिन ने आगे लिखा है- ‘ आप जहां भी जाते थे ,वह जगह मुझे बताते थे। अब आप मुझे बिना बताए कहां चले गए? आप हमें लड़खड़ाता छोड़ कहां चले गए? 33 साल पहले आपने बताया था कि आपकी स्मृति में क्या लिखा जाना चाहिए.. ‘यहां वह शख्स लेटा है जिसने सारी जिंदगी बिना थके काम किया.” क्या अब आपने तय कर लिया है कि आप तमिल समाज के लिए काम कर चुके हैं?’

‘या क्या आप कहीं छिप कर देख रहे हैं कि क्या कोई आपके 80 साल के सामाजिक जीवन की उपलब्धियों को पीछे छोड़ सकता है? 3 जून को अपने जन्मदिन पर मैंने आपसे आपकी क्षमता का आधा मांगा था, क्या अब आप अरिग्नार अन्ना से मिले? अपने दिल को भी मुझे देंगे? क्योंकि उस बड़े दान से हम आपके अधूरे सपनों और आदर्शों को पूरा करेंगे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *